• NainitalTimes

चारधाम यात्रा खोले जाने को लेकर सरकार ने हाईकोर्ट में लगाई गुहार..


माईलॉर्ड बोले सुप्रीम कोर्ट के आदेश से पहले कुछ नहीं...




नैनीताल :: चारधाम यात्रा खोलने को लेकर सरकार ने हाईकोर्ट में याचना की है कि यात्रा पर लगी रोक को खत्म कर दिया जाए। हांलाकि हाईकोर्ट ने सरकार के इस प्रार्थना को मानने से इंकार कर दिया है कोर्ट ने कहा कि जब तक सुप्रीम कोर्ट में याचिका लम्बित है तब तक हाईकोर्ट इस पर अब कोई निर्णय नहीं ले सकता है। दरअसल मंगलवार को सरकार से महाधिवक्ता व मुख्य स्थाई अधिवक्ता चन्द्र शेखर जोशी ने कोर्ट के आगे मैंसन किया कि यात्रा पर लगी रोक को हटा दिया जाए क्यों कि सभी चीजें खुलने लगी हैं और चारधाम यात्रा पर रोक से खासा नुकसान स्थानीय लोगों का हुआ है। कोर्ट में सरकार ने बताया कि चारधाम से हजारों लोगों की रोजीरोटी जुड़ी है और रोक लगने से डांडी कांठी से लेकर खच्चर होटल रेस्टोरेंट समेत अन्य काम पर असर पड़ा है। लिहाजा रोक को हटा दिया जाए ताकि लोगों राहत मिल सके। आपको बतादें कि 28 जून को हाईकोर्ट ने चारधाम यात्रा पर रोक लगा दी थी कोर्ट ने माना था कि चारधाम यात्रा के लिये सरकार की तैयारियां पूरी नहीं हैं। कोर्ट ने माना था कि चारधाम वाले जिलों में स्वास्थ्य सुविधाओं की कमी है कोविड़ संक्रमण रोकने के लिये तैयारियां प्रयाप्त नहीं है डाक्टरों और 108 समेत अन्य सुविधाओं की कमी की जिला प्रशासन की रिपोर्ट का हवाला कोर्ट ने दिया था। हांलाकि इस आदेश के खिलाफ सरकार ने 6 जुलाई को सुप्रीम कोर्ट में एसएलपी दाखिल की थी जिस पर अभी सुनवाई होनी है। हांलाकि सूत्र बता रहे हैं कि सुप्रीम कोर्ट से राज्य सरकार एसएलपी वापस ले सकती है जिसके बाद हाईकोर्ट में प्रार्थना पत्र दाखिल कर रोक हटाने की मांग फिर की जायेगी।



निष्पक्ष खबरें अपने मोबाइल पर पाने के लिए यहाँ क्लिक करें और जुड़े नैनीताल टाइम्स के व्हाट्सएप ग्रुप से
28 views0 comments